Home Uncategorized पीएम के हल्द्वानी दौरे का विरोध करेगी गौला संघर्ष समिति

पीएम के हल्द्वानी दौरे का विरोध करेगी गौला संघर्ष समिति

40

महापंचायत कर किया एलान

हल्द्वानी- गौला नदी से खनन ढुलाई का स्टोन क्रेशर स्वामियों द्वारा कम भाड़ा तय किए जाने पर भड़के सैकड़ों वाहन स्वामियों के अनिश्चितकालीन धरने का आज दूसरा दिन था जैसा कि गौला संघर्ष समिति ने नारा दिया है (जब तक उचित रेट नहीं तब तक गेट नहीं) को सफल बनाने के लिए कल शुक्रवार को दोपहर 12 बजे मोटाहल्दू चौराहे पर महापंचायत बुलाई गई है, जिसमें वाहन स्वामियों के साथ-साथ चालक और श्रमिक भी हजारों की तादाद में सम्मिलित होंगे।
ग्राम प्रधान रमेश चंद्र जोशी ने बताया कि बीते 9 दिनों से गौला में खनन कार्य बंद है लेकिन कोई भी निर्णय नहीं निकल पाया है जिसकी वजह से धरना करने को मजबूर सभी वाहन स्वामी कल 12 बजे महापंचायत का आवाहन करते हैं, जिसमें जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति भी बनी रहेगी, यदि कोई उचित निर्णय नहीं निकला तो महापंचायत आगे की रूपरेखा तय करेगी और साथ ही प्रधानमंत्री के हल्द्वानी दौरे का विरोध किया जाएगा। प्रवीण सिंह दानू ने बताया कि हर साल वाहन स्वामियों को ढुलाई का रेट कम दिया जाता है लेकिन इस बार तो क्रेशर स्वामियों ने हद ही कर दी और बहुत कम रेट देना तय किया जब तक सही रेट नहीं दिया जाएगा तब तक हम सभी धरने पर बैठे रहेंगे। वाहन स्वामियों ने बताया कि बाहरी क्षेत्रों से आए श्रमिक गौला में खनन शुरू ना होने की वजह से वापस जा रहे हैं जिसके कारण खनन के कार्य में अत्यधिक दुष्प्रभाव पड़ने वाला है। कई वाहन स्वामियों का कहना है कि यदि प्रधानमंत्री के दौरे से पहले उचित निर्णय नहीं निकाला गया तो वाहन स्वामी प्रधानमंत्री के हल्द्वानी दौरे के विरोध करने के साथ-साथ आत्मदाह करने को भी मजबूर होंगे। वाहन स्वामियों का साफ कहना है कि जो भी जनप्रतिनिधि हमारी समस्या का समाधान करेंगे आगामी विधानसभा चुनाव में उन्ही का समर्थन किया जाएगा।