Home देश मलेरिया की बीमारी को हल्के में लेने की गलती बिल्कुल भी न...

मलेरिया की बीमारी को हल्के में लेने की गलती बिल्कुल भी न करें

52

हर साल 25 अप्रैल का दिन दुनियाभर में World Malaria Day के रूप में मनाया जाता है। मलेरिया मच्छरों से फैलने वाली आम लेकिन खतरनाक बीमारी है जो जानलेवा भी हो सकती है। लोगों को इस खतरनाक बीमारी के प्रति जागरूक करना इस दिन को मनाने का खास मकसद है। मलेरिया होने पर क्या खाएं।किसी भी बीमारी से जल्द उबरने के लिए हेल्थ एक्सपर्ट्स खानपान पर खासतौर से ध्यान देने की सलाह देते हैं। हेल्दी व बैलेंस डाइट न सिर्फ बीमारियों से बचाने में मददगार है,  ये जल्द रिकवरी के लिए भी जरूरी है। इससे शरीर को एनर्जी मिलती है और रिकवरी की प्रक्रिया तेज हो जाती है। मलेरिया की बीमारी को हल्के में लेने की गलती बिल्कुल भी न करें, क्योंकि यह लिवर और किडनी फेलियर तक की वजह बन सकता है। मलेरिया होने पर किन चीज़ों को डाइट में करना चाहिए शामिल और किन चीज़ों को न खाएं प्रोटीन से भरपूर डाइट लें मलेरिया बीमारी में टिश्यूज को भारी नुकसान होता है, ऐसे में डाइट में प्रोटीन से भरपूर चीज़ें खाएं। इसके साथ ही कार्बोहाइड्रेट की भी मात्रा बढ़ाएं। कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की सही मात्रा टिश्यूज के निर्माण में सहायक होती है। दूध, दही, लस्सी, छाछ, मछली, चिकन, अंडा इन सारी चीज़ों को डाइट में शामिल करें।बुखार के दौरान भूख कम हो जाती है, जिस वजह से शरीर में एनर्जी फील नहीं होती और जब आप जरूरी मात्रा में खाना नहीं खाते, तो रिकवरी भी सही से नहीं होती। अगर आपका खाने का दिल नहीं कर रहा, तो ग्लूकोज, गन्ने का जूस, ताजे फलों का रस, नारियल पानी, शिकंजी जैसी चीज़ों की मात्रा बढ़ा दें, जो हर तरह से हेल्दी ऑप्शन हैं।मलेरिया में शरीर में पानी और इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी बहुत आम है। जो कई दूसरी समस्याओं की वजह बन सकती है, तो शरीर में इसके बैलेंस को बनाए रखने के लिए जूस, स्टू, सूप, चावल का पानी, दाल का पानी, नारियल पानी आदि का सेवन करना फायदेमंद होगा। इसके अलावा गाजर, चुकंदर, पपीता, खट्टे फलों का भी सेवन करें, जो इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार होते हैं।बीमार होने पर वैसे तो वसा का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए, लेकिन डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन किया जा सकता है। क्योंकि ये एनर्जी देने का भी काम करते हैं

इन चीज़ों को न खाएं;
हाई फाइबर से भरपूर चीज़ें अवॉयड करें।
ऑयली, प्रोसेस्ड, जंक, मसालेदार भोजन, अचार से परहेज करें।
मलेरिया में बहुत ज्यादा चाय, कॉफी, कोको या अन्य कैफीन युक्त पेय से भी बचें।
जल्द रिकवरी के लिए बॉडी को हाइड्रेटेड रखना बहुत जरूरी है।