Home हेल्थ ऐसा भी इंसान जिसका दाहिनी ओर धड़कता दिल, विपरीत दिशा में अन्य...

ऐसा भी इंसान जिसका दाहिनी ओर धड़कता दिल, विपरीत दिशा में अन्य अंग होने के बावजूद स्वस्थ जीवन

48

मनुष्य के शरीर में हृदय बांई ओर तथा लीवर दाहिनी ओर होता है| लेकिन हजारों में कोई ऐसा व्यक्ति भी होता है, जिसके शरीर की रचना विपरीत होती है | ऐसा ही एक व्यक्ति नवसारी के अमलसाड गांव का निवासी है | इस व्यक्ति का नाम है कार्तिक चग और उनकी आयु 46 वर्ष है| पेशे से बिल्डर कार्तिग चग के सीने में हृदय बांई ओर नहीं बल्कि दाहिनी ओर धड़कता है| इसके अलावा लीवर भी विपरीत दिशा में है, इसके बावजूद वह स्वस्थ जीवन जी रहे हैं| हांलाकि वह हर दो साल में अपने शरीर की स्वास्थ्य जांच करवाते हैं और उसकी जांच रिपोर्ट अपने साथ ही रखते हैं| वैसे कार्तिक चग मध्य प्रदेश के सेंधवा गांव के मूल निवासी हैं और वर्तमान में दक्षिण गुजरात के वलसाड जिले के अमलसाड गांव में रहते हैं| 1977 में मध्य प्रदेश के सेंधवा गांव में जन्मे कार्तिक चग का हृदय और लीवर ही नहीं बल्कि किडनी भी विपरीत दिशा में है| कार्तिक को इसका पता तब चला जब वह कक्षा 5वीं पढ़ते थे| शिक्षिका ने कक्षा में बच्चों को पर्यावरण के बारे में समझाते हुए अपना हृदय की धड़कनों की जांच करने को कहा| कार्तिक ने जब बताया कि उसके बांई ओर धड़कन का अहसास नहीं हो रहा, तब शिक्षिका ने उन्हें मूर्ख कहा था| घर लौटकर माता वासंती चग से पूछा तो कार्तिक को अपने शरीर की रचना के बारे में पता चला| प्राकृतिक रूप से अलग शरीर की संरचना लेकर जन्मे कार्तिक चग को शारीरिक या स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या नहीं है| वह अन्य लोगों की भांति स्वस्थ जीवन बिता रहे हैं| कार्तिक चग की मौत के बाद अपना देहदान करने की इच्छा है| ताकि उनके शरीर का अध्ययन कर स्वास्थ्य जगत नए संशोधन के साथ कुछ नहीं सीख सके| चिकित्सकों के मुताबिक विपरीत दिशा में शरीर के अंग होने के बावजूद व्यक्ति सामान्य जीवन जी सकता है और यह कोई चिंता की बात नहीं है| शरीर की रचना उलटी होने के कारण ऐसे लोगों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना काफी कम होती है| हांलाकि समय समय पर स्वास्थ्य जांच कराना जरूरी होता है