Home Breaking News उद्यान विभाग के कई पुराने अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज अधिकारियों, 400 बीघा...

उद्यान विभाग के कई पुराने अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज अधिकारियों, 400 बीघा सरकारी जमीन के कर वारे-न्यारे

399
  • दून पुलिस की एसआईटी की जांच के बाद कई (तत्कालीन) अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज
  • 2007 से 2014 में रहे तत्कालीन अधिकारियों पर मुकदमा

देहरादून| उच्च न्यायालय (High Court) द्वारा दून घाटी विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (SADA) क्षेत्रान्तर्गत हरबर्टपुर (Herbertpur), विकासनगर (Vikasnagar)तथा ढकरानी क्षेत्र के आस-पास कृषि भूमि/बगीचा भूमि के आवासीय इलाके (Residential Area) में परिवर्तित करने एवं फलदार पेड़ को काटने की स्वीकृति दिये जाने से सम्बन्धित प्रकरण में SIT गठित कर जांच के आदेश कर प्रकरण में अब जांच के बाद कई तत्कालीन अधिकारियों (Ex – Officers) पर विकासनगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके अलावा कई भू-माफिया (Land Mafia) पर भी FIR दर्ज की गई है.

लाठीचार्ज गलत, लठ्ठबाज सरकार नहीं चाहिए : पूर्व सीएम हरीश रावत

पूरा मामला यह है कि शासन की अनुमति के बिना, बगीचे की भूमि का लैंड यूज़ परिवर्तित कराए बिना हरबर्टपुर, ढकरानी, जीवनगढ़ में करीब 400 बीघा भूमि इन अधिकारियों ने प्लॉटिंग करा दी और भूमाफिया के हवाले कतर दिया, इस जमीन पर सारे फलदार पेड़ काट दिए गए. 

हरिद्वार में बंद स्लॉटर हाउस पूरी तरह प्रतिबंधित, पर्यटन मंत्री के अनुरोध पर सरकार ने जारी किए आदेश

मामले में दून घाटी विशेष क्षेत्र प्राधिकरण के तत्कालीन सचिव, तत्कालीन वन विभाग के प्रभागीय वन अधिकारी (कालसी), उद्यान विभाग के तत्काली ज़िला उद्यान अधिकारी, उपरोक्त विभाग के अधीनस्त अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. इन पर आरोप है कि इन सभी अधिकारियों ने 

भूस्वामियों व कॉलोनाइजर के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की और ना ही लोक सेवक होने के नाते अपने कर्तव्यों का पालन किया.

गर्लफ्रैंड के घर जाकर पूर्व महासंघ उपाध्यक्ष ने की आत्महत्या