Home राज्य 23 वर्ष की आयु मे पहले मध्यप्रदेश में और अब हिमाचल में...

23 वर्ष की आयु मे पहले मध्यप्रदेश में और अब हिमाचल में बने जज

62

विकास ठाकुर का चयन हिमाचल प्रदेश न्यायिक सेवा 2023 में सिविल जज एवं ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के पद पर हुआ है और इन्होंने देश भर मे चौथा स्थान हासिल करके इस परीक्षा को उत्तीर्ण किया है। इससे पहले इसी वर्ष इनका चयन मध्य प्रदेश न्यायिक सेवा में भी हुआ है और वर्तमान में वे इंदौर में बतौर जज सेवाएँ दे रहे हैं।

विकास ठाकुर के पिता श्री नंदलाल ठाकुर दुकानदार हैं , माता श्रीमती बिन्द्रा ठाकुर गृहिणी हैं एवं बड़े भाई विशाल ठाकुर भी जज हैं ।

वे गाँव कल्लर, तहसील सदर, जिला बिलासपुर के निवासी हैं।

विकास ठाकुर ने अपनी BALLB (ऑनर्स ) एवं LLM की पढ़ाई पंजाब यूनिवर्सिटी चण्डीगढ़ से की है।

इनकी प्रारंभिक शिक्षा लिटिल एंजल्स पब्लिक स्कूल कल्लर से, और 9 वीं से 12 वीं तक की पढ़ाई मिनर्वा सीनियर सेकेंडरी स्कूल घुमारवीं से पूरी हुई है।
इसी वर्ष इनके बड़े भाई विशाल ठाकुर का भी उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा में बतौर सिविल जज एवं जूडिशल मजिस्ट्रेट के पद पर चयन हुआ है।

विकास ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवारजनों को दिया है। विकास ने कहा कि यह उनके माता पिता के संघर्ष का ही परिणाम है कि आज उनके दोनों बेटे जज बन गए हैं।

इसके अलावा विकास ने पंजाब यूनिवर्सिटी के LLM प्रवेश परीक्षा में देश भर मे प्रथम स्थान हासिल किया था तथा नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली के AILET 2021 की LLM की प्रवेश परीक्षा में भी देश भर में तेरहवां स्थान हासिल किया था ।

विकास का कहना है कि यदि ठान ली जाए और यदि अपनी पूरी मेहनत की जाए तो कोई भी मंजिल हासिल की जा सकती है।