Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने आज नैनी सैनी एयरपोर्ट से पिथौरागढ़-देहरादून...

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने आज नैनी सैनी एयरपोर्ट से पिथौरागढ़-देहरादून हवाई सेवा का शुभारंभ किया।

6

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने आज नैनी सैनी एयरपोर्ट से पिथौरागढ़-देहरादून हवाई सेवा का शुभारंभ किया। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी व केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जी का आभार व्यक्त किया। इस हवाई सेवा के शुभारंभ के अवसर पर सभी प्रदेशवासियों को बधाई भी दी। मुख्यमंत्री स्वयं भी हवाई जहाज में बैठकर देहरादून रवाना हुए। उन्होंने कहा कि पहले पिथौरागढ़ से देहरादून और दिल्ली जाने में 17 घंटे लगते थे वहीं अब ऑल वेदर रोड बनने से 11 घंटे लगते हैं। सीमांत जिले में हवाई सेवा प्रारंभ होने से 1 घंटे में देहरादून पहुंच सकते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंतनगर एयरपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में विकसित करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा ओएलएस सर्वे कर लिया गया है। पहले जौलीग्रांट एयरपोर्ट से देहरादून-अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ के बीच हेली सेवा की शुरूआत की गई थी। इसे भी नियमित करने की सरकार की योजना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आदिकैलाश और जागेश्वर धाम के दर्शन करने के बाद आदिकैलाश और जागेश्वर धाम में पर्यटकों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। प्रधानमंत्री उत्तराखण्ड के पर्यटक स्थलों को देश-विदेश में नई पहचान दिला रहे हैं।
उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह हवाई सेवा जनपद पिथौरागढ़ में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मील का पत्थर साबित होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सेवा अभी सप्ताह में तीन दिन के लिए शुरू हुई है, बाद में इसे 05 दिन किया जाएगा। आगामी समय में पिथौरागढ़ से हिंडन के लिए हवाई सेवा शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री ने श्री सिंधिया से अनुरोध किया। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सिंधिया ने वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि डबल इंजन सरकार विकास के लिए निरंतर प्रयासरत है।
कार्यक्रम में राज्य मंत्री गणेश भंडारी, सांसद श्री अजय टम्टा, जिला पंचायत अध्यक्ष दीपिका बोहरा, विधायक पिथौरागढ़ मयूख महर, पूर्व विधायक चंद्रा पंत, जिलाधिकारी रीना जोशी, मुख्य विकास अधिकारी नंदन कुमार, अपर जिलाधिकारी डॉ. एसके वरनवाल सहित अनेक जनप्रतिनिधि व अधिकारी मौजूद थे।