Home उत्तराखंड दून हॉस्पिटल में लड़की की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने काटा...

दून हॉस्पिटल में लड़की की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने काटा हंगामा

42

देहरादून के हॉस्पिटल में बीती रात लड़की को भर्ती किया गया था. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. अस्पताल प्रशासन ने मामले में कार्रवाई की बात कही है.उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में बुधवार (4 अक्टूबर) को एक नाबालिग लड़की की इलाज के दौरान हुई मृत्यु को लेकर परिजनों ने हंगामा काटा. बताया जा रहा है कि नाबालिग देहरादून के चकराता की रहने वाली थी. जिसे इलाज एक लिए देहरादून लाया गया था. दून हॉस्पिटल में इलाज के दौरान लड़की की मौत हो गई. जिसके बाद परिजनों ने जमकर हंगामा काटा है. परिजनों ने बताया कि लड़की को तबीयत खराब होने के चलते बीती रात दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान लड़की की मौत हो गई. परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया है.बताया जा रहा है कि प्वाइजन वाले 3 इंजेक्शन जहर खाने वाली लड़की को लगने थे वह नॉर्मल बुखार वाली लड़की को लगा दिया जिसके कारण मुंह से खून निकला और मौके पर ही मौत हो गई।इस समय,वहां पर बचाना शर्मा जी भी मौजूद थी। बताया जा रहा है कि लड़की की डैडबौडी को गायब कर दिया कारवाई से पहले ही
लड़की नाम निशा बताया जा रहा है समाल्टा गांव की रहने वाली बताई जा रही है।
उनके माता-पिता के साथ बहुत बुरा व्यवहार किया।
समय से उनको न्याय दिलाने के लिए वहां छात्र नेता बाॅबी पवांर जी और पूजा गौड़ जी, बचना शर्मा जी मौजूद रहे| उनका कहना है कि डॉक्टर ने लड़की का इलाज ठीक से नहीं किया. सही समय पर सही इलाज न मिलने से लड़की की मौत हुई है. परिजनों ने साथ ही अस्पताल पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं. वहीं दून हॉस्पिटल के स्वास्थ्य अधिकारी इस पूरे मामले की जांच करने की बात कर रहे हैं. उनका कहना है कि अगर इस मामले में लापरवाही हुई है तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिजनों ने कहा कि प्रदेश की राजधानी में मरीजों को ठीक से इलाज नहीं मिल रहा तो बाकी प्रदेश का क्या हाल होगा. इस मामले में अब अस्पताल प्रशासन जांच की बात कर रहा है, लेकिन उत्तराखंड के अस्पताल के हालात किसी से छुपे नहीं हैं. यहां आए दिन इस प्रकार के मामले सामने आते रहते हैं जहां पर इलाज में लापरवाही के चलते लोगों की जान चली जाती है और जांच के नाम पर मामले को ठंडा बस्ते में डाल दिया जाता है.