Home उत्तराखंड उत्तराखंड बौद्ध सम्मेलन में बोले बीजेपी नेता लोकेंद्र बिष्ट – ‘समुदाय के...

उत्तराखंड बौद्ध सम्मेलन में बोले बीजेपी नेता लोकेंद्र बिष्ट – ‘समुदाय के विकास के लिए सरकार दृढ़संकल्प’

232
  • दो दिवसीय उत्तराखंड बौद्ध सम्मेलन की आज से शुरुआत 
  • गढ़वाल मंडल विकास निगम के निदेशक लोकेंद्र सिंह बिष्ट रहे मुख्य अतिथि
  • इंडियन हिमालयन काउंसिल फ़ॉर नालंदा बुद्धिष्ठ ट्रेडिशन के साथ इंटरनेशनल बुद्धिष्ठ कंफेडरेशन ने आयोजित किया सम्मेलन

हरीश थपलियाल

उत्तरकाशी। इंडियन हिमालयन काउंसिल फ़ॉर नालंदा बुद्धिष्ट ट्रेडिशन के साथ इंटरनेशनल बुद्धिष्ठ कंफेडरेशन (International Buddhist Confedration) ने गाडेन फेलगिलंग संस्थान डुंडा में हिमालयी राज्यों में निवासरत बुद्धिष्ठ समुदाय (Buddhist Community) का दो दिवसीय सम्मेलन आज से शुरू हुआ।

उत्तराखंड बौद्ध सम्मेलन में मुख्य अतिथि के तौर पर गढ़वाल मंडल विकास निगम के निदेशक लोकेंद्र सिंह बिष्ट ने कहा कि समाज मे सदभाव व शांति के मार्ग पर चलने के लिए भगवान बुद्ध ने राजशाही ठाठबाट छोड़कर संन्यास ले लिया था। सिद्धार्थ गौतम ने पीपल वृक्ष के नीचे कठोर साधना व तपस्या की। जिस पीपल वृक्ष के नीचे समाज के कल्याण के लिए गौतम बुद्ध (Gautam Buddha) को ज्ञान का बोध हुवा उसी वृक्ष का नाम तब से बोधवृक्ष हो गया।

हिमालयी राज्यों (Himalayan States) में निवासरत बौद्ध समुदाय के लोगों की संस्कृति, समाज और जीवन के संरक्षण के लिए नरेंद्र मोदी जी (PM Narendra Modi) की सरकार दृढ़ संकल्प है। इसी के मद्देनजर केंद्र सरकार के सहयोग से भारत के हर कोने में निवासरत बौद्ध समुदाय के संरक्षण के लिये सरकार कार्य योजना बना रही है। –  बीजेपी नेता लोकेन्द्र सिंह बिष्ट 

इंटरनेशनल बुद्धिष्ठ कंफेडरेशन के सलाहकार गोविंद सिंह खंपा ने सम्मेलन में कहा कि इंडियन हिमालयन कौंसिल फ़ॉर नालंदा बुद्धिष्ठ ट्रेडिशन के साथ इंटरनेशनल बुद्धिष्ठ कंफेडरेशन भारत सरकार के सहयोग से हिमालयी राज्यों हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के शिमला (Shimla) और लाहौल स्फीति में,  सिक्किम (Sikkim) के गंगटोक में, अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के दिरांग में और उत्तराखंड (Uttarakhand) के डुंडा उत्तरकाशी में बौद्ध समुदाय के लोगों का सम्मेलन कर रही है। इन सम्मेलनों में बौद्ध धर्म के संरक्षण व संवर्धन पर एक कार्ययोजना भी बनाई जा रही है।

गैरसैंण बना सूबे का तीसरा मण्डल, रुद्रप्रयाग, चमोली, अल्मोड़ा व बागेश्वर जनपद शामिल

हिमालयन बुद्धिस्ट कल्चर एसोसिएशन के अध्यक्ष लामा छोत्सफेल जोत्सपा ने कहा कि भारत में निवासरत बुद्धिस्ट लोगों को देश की रक्षा में अहम योगदान है।

इंटरनेशनल बुद्धिष्ठ कंफेडरेशन के महासचिव लामा डॉ धम्मापिया ने कहा कि बौद्ध समुदाय के लोगों को बुद्धम शरणम गच्छामि के साथ माँ गंगा के मायके उत्तरकाशी में रहने वाले बौद्ध ड्रम को मानने वाले समुदाय को मां गमगा की स्वच्छता व निरमलता पर भी कार्य करना चाहिये। उन्होंने कहाकि भारत देह की रक्षा में हिमालयी राज्यों में निवासरत बौद्ध समुदाय के लोगों की अहम भूमिका रहती है। उन्होंने कहा कि हमारा समुदाय देह की रक्षा के लिए हर समय तत्पर रहता है। अरुणाचल प्रदेश से आये सम्मेलन में इंडियन हिमालयन कौंसिल फ़ॉर नालंदा बुद्धिष्ठ ट्रेडिशन  के सचिव मलिंग गोम्बो ने सम्मेलन का संचालन करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार भी बौद्ध धर्म के संरक्षण व संवर्धन पर कार्य कर रही है।।

सम्मेलन में बौद्ध समुदाय से जुड़े हिमालयी राज्यों से कई प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। 

गर्लफ्रैंड के घर जाकर पूर्व महासंघ उपाध्यक्ष ने की आत्महत्या 

गर्लफ्रैंड के घर जाकर पूर्व महासंघ उपाध्यक्ष ने की आत्महत्या