Home उत्तर प्रदेश बन्द पड़े संस्थानों का चिन्हाकन कर इच्छुक उद्यमियों को आवंटित करें :...

बन्द पड़े संस्थानों का चिन्हाकन कर इच्छुक उद्यमियों को आवंटित करें : जिलाधिकारी अंकित अग्रवाल

21

जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा बिदुर सभागार में आयोजित बैठक के क्रम में पहले जिला निर्यात प्रोत्साहन समिति की समीक्षा बैठक एवं इसी क्रम में उद्योग बन्धु सुरक्षा फोरम एवं निवेश मित्र पोर्टल, एम.ओ.यू. क्रियान्वयन समीक्षा बैठक आयोजित हुई।
जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि विद्युतापूर्ति शटडाउन के लिए सुबह और शाम एक-एक घंटा निर्धारित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि पूरे जिला बिजनौर के लिए इसका रोस्टर निर्धारित करते हुए सूचित भी करें ताकि उद्योग बंधुओं को अपने उत्पादों की तैयारी में कोई कठिनाई न होने पाए। उन्होंने जीएम-डीआईसी को निर्देश दिए कि आगामी बैठक में बिजनौर के दोनों खण्डों के अधीक्षण अभियंता को उक्त बैठक में अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करने के लिए उनकी ओर से निर्देशित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जीएम-डीआईसी औद्योगिक आस्थानों का सर्वे करें और देखें कि कोन से स्थान अकारण बंद हैं और उनके आवंटी उक्त आस्थान को संचालित करने के इच्छुक भी नहीं हैं, ऐसे आस्थानों का आवंटन निरस्त करते हुए अन्य उद्योगबंधु को आवंटित करें जो उद्योग संचालित करनेे में रूचि रखते हों।
उद्योग बंधुओं द्वारा रेलवे क्रॉसिंग पर हो रहे जाम की शिकायत से मुक्ति के लिए उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि रेलवे विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर उक्त समस्या को समाधान कराएं। उन्होंने मुद्रा लोन पर बैंकर्स द्वारा सिक्योरिटी के नाम पर अनावश्यक रूप से उद्यमियों से जमा कराई जा रही धनराशि की शिकायत पर एलडीएम को निर्देश दिए कि इस प्रकरण को देखें और इसका समाधान कराना सुनिश्चित कराएं। उन्होंने विभागीय अधिकारियांे को निर्देश दिए कि उद्योगबंधुओं की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक लेते हुए उनकी समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण मानक के अनुरूप करना सुनिश्चित करें तथा
इस
बैठक से पूर्व भारतीय मानक ब्यूरो के अधिकारी द्वारा उत्पादों के मानकीकरण और संतुष्टि करण, लाइसेंस आदि के बारे में विस्तार जानकारी उपलब्ध कराई गई। उन्होंने बताया कि उत्पादों के मानकीकरण के लाइसेंस के लिए सभी प्रक्रियाओं के लिए ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध है और 30 दिन के अंदर लाईसेंस जारी किए जाने का प्रावधान है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पूर्ण बोरा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनय कुमार सिंह,एलडीएम, अपर पुलिस अधीक्षक डॉ प्रवीण रंजन, उपायुक्त उद्योग, उपायुक्त व्यापार कर जीएसटी सहित जिले के उद्योग बन्धु/व्यापार बन्धु मौजूद थे।