Home देहरादून स्कूलों के अंदर पार्किंग व्यवस्था को व्यवस्थित किये जाने के निर्देश

स्कूलों के अंदर पार्किंग व्यवस्था को व्यवस्थित किये जाने के निर्देश

12

देहरादून। यातायात व्यवस्था के सकुशल संपादन के संबंध में एसएसपी देहरादून अजय सिंह के द्वारा दिये गए निर्देशों पर गोष्ठी आयोजित की गई। पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड द्वारा यातायात व्यवस्था के संबंध में दिये गए निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिये एसएसपी देहरादून द्वारा गोष्टी आयोजित करने के निर्देश दिए थे।
विगत दिनों यातायात व्यवस्था के संबंध में पुलिस मुख्यालय में आयोजित बैठक में पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड अभिनव कुमार के द्वारा यातायात व्यवस्था को सुव्यवस्थित बनाए रखने हेतु दिए गए निर्देश के अनुपालन में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह के निर्देशानुसार पुलिस क्षेत्राधिकार यातायात देहरादून द्वारा यातायात एवं सीपीयू के समस्त निरीक्षक, उप निरीक्षक, अपर उप निरीक्षक, हेड कांस्टेबल के साथ यातायात कार्यालय मीटिंग हॉल में गोष्ठी आयोजित की गई। गोष्ठी में क्षेत्राधिकारी यातायात देहरादून द्वारा पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड से प्राप्त निर्देशों के क्रम में शहर क्षेत्र अंतर्गत समस्त स्कूलों को पीक समय में यातायात व्यवस्था बनाए रखने तथा स्कूलों के अंदर पार्किंग व्यवस्था को व्यवस्थित किये जाने एवं स्कूल समय के निर्धारण में क्लस्टर ग्रुप तैयार कर समय में परिवर्तन किए जाने के संबंध में क्षेत्रवार टीमें गठित की गई। साथ ही शहर के विभिन्न प्रतिष्ठानो में बेसमेंट पार्किंग टीमों के माध्यम से स्थलीय निरीक्षण कर बेसमेंट पार्किंग को शत प्रतिशत सुचारू रूप से संचालित किए जाने हेतु निर्देशित किया गया है, इसके अतिरिक्त ऐसे प्रतिष्ठान, जहां पर पार्किंग की उपलब्धता होने के बावजूद भी वाहनों की बेसमेंट में पार्किंग नहीं करवाई जा रही है, को चिन्हित कर रिपोर्ट उपलब्ध कराए जाने हेतु निर्देशित किया गया है ताकि संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही हेतु संबंधित विभाग को रिपोर्ट प्रेषित की जा सके। सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु सड़क दुर्घटना संभावित स्थल एवं ब्लैक स्पॉट का स्थलीय निरीक्षण किए जाने हेतु उपरोक्त टीमों को चिन्हित ब्लैक स्पॉट पर जाकर स्थलीय निरीक्षण कर उजागर कर्मियों की रिपोर्ट उपलब्ध कराए जाने हेतु निर्देशित किया गया है साथ ही पुलिस स्तर से जिन कमियां को दूर किया जा सकता है, उन कमियों को यथाशीघ्र दूर किए जाने हेतु गोष्ठी में उपस्थित सभी अधिकारी, कर्मचारी गणों को निर्देशित किया गया।