Home Breaking News ग्रीष्मकालीन राजधानी बनने के एक साल पूरा होने पर दीपों से सजा...

ग्रीष्मकालीन राजधानी बनने के एक साल पूरा होने पर दीपों से सजा गैरसैंण में मनाया दीपोत्सव

297
  • 1100 दिये जलाकर मनाया दीपोत्सव
  • चमोली में आपदा मृतकों के लिए रखा गया दो मिनट का मौन
  • कलाकारों को दस हजार रुपये की पुरुस्कार राशि
  • विधानसाभा अध्यक्ष ने किया सीएम का धन्यवाद

गैरसैंण| ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण (Gairsain) (भराड़ीसैंण) की घोषणा के एक साल होने पर भराड़ीसैंण विधानसभा परिसर में सांस्कृतिक संध्या (Cultural Evening) और दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया. सांस्कृतिक संध्या में स्थानीय कलाकारों व स्कूली छात्राओं ने भव्य कार्यक्रम प्रस्तुत किये.

1100 दिये जलाकर मनाया दीपोत्सव

इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat) सहित मंत्रियों और विधायकों ने भराड़ीसैंण में 1100 दीप जलाकर दीपोत्सव मनाया.

चमोली में आपदा मृतकों के लिए रखा गया दो मिनट का मौन

इस अवसर पर चमोली (Chamoli) जनपद के रैणी क्षेत्र में आपदा मृतकों की आत्मा शांति के लिए 02 मिनट का मौन रखा गया.

हरिद्वार में बंद स्लॉटर हाउस पूरी तरह प्रतिबंधित, पर्यटन मंत्री के अनुरोध पर सरकार ने जारी किए आदेश

कलाकारों को दस हजार रुपये की पुरुस्कार राशि

सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रस्तुति देते कलाकार

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सांस्कृतिक संध्या में प्रस्तुतीकरण देने वाले सभी कलाकारों को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 10-10 हजार रुपये देने एवं सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज गैरसैंण को 20 कम्प्यूटर देने की घोषणा की.

विधानसाभा अध्यक्ष ने किया सीएम का धन्यवाद

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल ने कहा कि आज गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी की घोषणा के एक वर्ष पूर्ण हो चुके हैं. प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए शानदार बजट पेश करने पर उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया. विधानसभा अध्यक्ष ने सांस्कृतिक संध्या में प्रस्तुतीकरण देने वाले सभी कलाकारों को विधानसभा अध्यक्ष कोष से 02-02 हजार रुपये देने की घोषणा की.

 

गर्लफ्रैंड के घर जाकर पूर्व महासंघ उपाध्यक्ष ने की आत्महत्या