Home उत्तराखंड सतगुर नानक प्रगटिया मिटी धुंध जग चानन होआ श्रद्धा पूर्वक मनाया...

सतगुर नानक प्रगटिया मिटी धुंध जग चानन होआ श्रद्धा पूर्वक मनाया गया श्री गुरु नानक देव जी का 554 वां प्रकाश पर्व

54

गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, आढ़त बाजार के तत्ववाधान में श्री गुरु नानक देव जी का 554 वां पावन प्रकाश पर्व गुरुद्वारा रेसकोर्स के खुले सुन्दर सजे पंडाल में श्रद्धा एवं उत्साह पूर्वक कथा – कीर्तन के रूप में मनाया गया l हजारों की संख्या में संगत ने गुरु जी को मत्था टेक आशीर्वाद प्राप्त किया l
प्रात: नितनेम, शब्द चौकी एवं अरदास के पश्चात भाई सुखजीत सिंह जी, हजुरी रागी दरबार साहिब, श्री अमृतसर वालों ने आसा दी वार का शब्द “सतगुर नानक प्रगटिया मिटी धुंध जग चानन होआ ” का गायन कर संगत को निहाल किया l भाई अमनदीप सिंह जी ने शब्द ” हर हर चरण रिधे उर धारे ” एवं विशेष रूप से पधारे भाई गुरदेव सिंह जी, वेरका हजुरी रागी दरबार साहिब, श्री अमृतसर वालों ने शब्द ” इक बाबा अकाल रूप दूजा रबाबी मरदाना ” का गायन किया l हजुरी रागी भाई गुरदियाल सिंह जी ने शब्द ” प्रगट भई सगले जुग अंतर गुरु नानक की बढ़आई ” एवं हजुरी रागी भाई चरणजीत सिंह जी ने शब्द ” गुरु पूरा मिलावे मेरा प्रीतम, हउ वार वार आपने गुरु कउ जासा ” का गायन कर संगत को निहाल किया l
दून वेल स्कूल रेस कोर्स, दून इंटरनेशनल स्कूल, गुरु नानक ऐकडमी, दून केमब्रिज स्कूल,शिवालिक इंटरनेशनल स्कूल आदि स्कूलों के बच्चों ने श्री गुरु नानक देव जी की महिमा का व्यख्यान कीर्तन द्वारा किया l गुर सिख एजुकेशन सोसायटी रेस कोर्स ने बोर्ड परीक्षाओं में 90 / प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्र – छात्राओं को सरोपा, स्मृति चिन्ह, प्रमाण पत्र आदि देकर सम्मानित किया l
हैड ग्रंथी भाई शमशेर सिंह जी ने श्री गुरु नानक देव जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि श्री गुरु नानक देव जी सिख धर्म के संस्थापक गुरु हुए हैँ जिन्होंने अपने जीवन में अनेक धार्मिक स्थानों पर पहुंच कर प्रभु कि सच्ची भक्ति में लीन होने का संदेश दिया, जात – पात के भेदभाव को खत्म करते हुए धर्म की कीरत करने, नाम जपो वंड छको का उपदेश फिया l
इस अवसर पर गुरु महाराज जी का आशीर्वाद लेने डॉ एस फ़ारूक़, समाज सेवी,अजय जी पहुंचे l इस अवसर पर गुरमत प्रचार सभा, सिख सेवक जत्था, यूनाइटेड सिख फेडरेशन, बेबे नानकी सेवक जत्था, गुरु घर की क्लास आदि ने सेवा में सहयोग प्रदान किया l महासचिव गुलज़ार सिंह ने उन सभी संस्थाओं का धन्यवाद किया जिन्होंने गुरुपर्व को चढ़दी कला में मनाने में अपना बहुमूल्य सहयोग किया l प्रधान स. गुरबक्श सिंह राजन ने कहा कि रात का दीवान गु. श्री गुरु सिंह सभा में कथा कीर्तन दरबार रात्रि 1030 बजे तक सजेगा l

इस अवसर पर गु. श्री गुरु सिंह सभा के प्रधान गुरबक्श सिंह राजन, महासचिव गुलज़ार सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जे एस छाबड़ा, चरणजीत सिंह चन्नी, अमरजीत सिंह छाबड़ा, मनजीत सिंह, सतनाम सिंह, सेवा सिंह मठारु, डी एस मान, गुरप्रीत सिंह जोली, गुरदीप सिंह टोनी, बलबीर सिंह साहनी, राजिंदर सिंह राजा, देविंदर सिंह मोंटी, हरमोहिंदर सिंह, जगजीत सिंह, जसविन्दर सिंह मोठी, गुरविंदर सिंह सेठी, देविंदर सिंह बिंद्रा,बलजीत सिंह सोनी काका अर्जुन सिंह टी टी नेशनल प्लेयर, आदि उपस्थित थे l मंच का संचालन देविंदर सिंह भसीन एवं सेवा सिंह मठारु ने किया l कार्यक्रम के पश्चात संगत ने गुरु का लंगर छका l