Home Breaking News Flood Update : 204 लापता, 50 शव बरामद और 25 की हुई...

Flood Update : 204 लापता, 50 शव बरामद और 25 की हुई शिनाख्त, जानें सभी अपडेट

681

न्यूज डेस्क| उत्तराखंड(Uttarakhand) के चमोली(Chamoli) जिले में धौली गंगा घाटी(Dhauli ganga Valley) में आई बाढ़ से सारा देश स्तब्ध रह गया. इलाके में राहत और बचाव का काम जारी है. अब तक लापता लोगों में से 52 लोगों के शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किये जा चुके हैं, जिनमें से 25 लोगों की शिनाख्त हो गई है और 25 लोगों की शिनाख्त नहीं हो पायी है. 152 लोग अभी भी लापता हैं. 12 मानव अंग क्षत-विक्षत हालत में मिले हैं. नदी में ग्लेशियर टूटने से रविवार सुबह साढ़े 10 बजे अचानक बाढ़ आ गई थी. खबर से जुड़ी सारी अपडेट करने के लिए इमेज पर क्लिक करें –  नदी में ग्लेशियर टूटने से रविवार सुबह साढ़े 10 बजे अचानक बाढ़ आ गई थी.  खबर से जुड़ी सारी अपडेट –

Update – 15/02/2021

52 लोगों के शव अलग-अलग स्थानों से बरामद, 152 लोग अभी भी लापता

Update – 14/02/2021

लापता 204 लोगों में से 50 के शव बरामद, 25 लोगों की शिनाख्त

“प्राकृतिक आपदा में लापता कुल 204 लोगों में से 50 (चमोली- 41, रूद्रप्रयाग- 07, पौड़ी गढ़वाल- 01, टिहरी गढ़वाल- 01) के शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किये जा चुके हैं, जिनमें से 25 लोगों की शिनाख्त हो गई है और 25 लोगों की शिनाख्त नहीं हो पायी है। आज तपोवन टनल से 05, रैंणी गांव से 06, रूद्रप्रयाग से 01 कुल 12 शव बरामद किये गये हैं। लापता समस्त लोगों के सम्बन्ध में अब तक कोतवाली जोशीमठ में 32 एफआईआर पंजीकृत की जा चुकी है। इसके साथ ही जनपद चमोली के विभिन्न स्थानों से ही 23 मानव अंग भी बरामद किये गये हैं। बरामद सभी शवों एवं मानव अंगों का डीएनए सैम्पलिंग और संरक्षण के सभी मानदंडों का पालन कर सीएचसी जोशीमठ, जिला चिकित्सालय गोपेश्वर एवं सीएचसी कर्णप्रयाग में शिनाख्त हेतु रखा गया था। शवों को नियमानुसार डिस्पोजल हेतु गठित कमेटी द्वारा अभी तक 32 शवों एवं 11 मानव अंगों का पूरे धार्मिक रीति रिवाजों एवं सम्मान के साथ दाह संस्कार करा दिया गया है.” – नीलेश आनंद भरणे, पुलिस उपमहारीक्षक, प्रवक्ता, उत्तराखंड पुलिस

Update – 12/02/2021

राज्य सरकार के अनुसार अब तक 36 शव बरामद किए जा चुके हैं और 204 लोग लापता हैं.

Update – 11/02/2021

जोशीमठ| अलकनंदा (Alaknanda) में पानी बढ़ने से राहत और बचाव (Rescue operation) कार्यों में समस्या आ रही है. ताजा सूचना के अनुसार नदीं में जलस्तर (Water Level) अचानक बढ़ गया है. लाउड स्पीकर (Loud Speaker ) के द्वारा सभी लोगों को सतर्क किया जा रहा है.

ऋषिगंगा (Rishiganga) में जल प्रलय के बाद तपोवन जल विद्युत परियोजना (Tapovan hydropower project) की निर्माणाधीन सुरंग में फंसे तीन इंजीनियरों समेत 35 कर्मचारियों तक पहुंचने में सुरंग के जरिए भारी मात्रा में आ रहा मलबा बचाव दल के समक्ष बड़ी बाधा बनकर सामने आया है. अभी तक आपदा में 170 लोग लापता हैं. 34 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं, जिनमें से नौ लोगों की शिनाख्त हो चुकी है. 12 मानव अंग क्षत-विक्षत हालत में मिले हैं.

Update – 10/02/2021

  • टनल में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, अबतक 33 शव बरामद
  • टनल में फंसे 34 व्यक्तियों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
  • नौसेना के कमांडो भी मौके पर पहुंचे
  • सर्च ऑपरेशन के बाद श्रीनगर से एक शव बरामद
  • लोगों ने रेस्क्यू साइट पर नेताओ को जाने देने को रोकने की मांग की 

Update – 09/02/2020

Update – 5:55PM

  • मंगलवार को प्रभावित क्षेत्र से बरामद हुए शव, 31 हो गई मृतकों की संख्या, 178 लोग लापता 
  • एक सुरंग में फंसे करीब 34 व्यक्तियों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है

आवश्यक सूचना

दिनाँक 07/02/2021 को रेणी छेत्र में आई आपदा में राहत एवं बचाव कार्य लगातार जारी है, पुलिस अधीक्षक चमोली महोदय के निर्देशन में आपदा के संबंध में आवश्यक सूचनाओं के आदान-प्रदान हेतु कंट्रोल रूम बनाकर हेल्पलाईन नम्बर जारी किए गये हैं, जिन पर सम्पर्क कर आप आपदा एवं रेस्क्यू ऑपरेशन से सम्बंधित अपडेट ले सकते हैं।
1- पुलिस कंट्रोल रूम:– 01372-251487
9084127503
9411112977
2- ASI श्री धर्मेंद्र गुसाँई:– 9634182313
3- वर्चुअल पुलिस स्टेशन:- 9458322120 (व्हाट्सएप्प नम्बर )

Update – 10:00AM

  • 26 लोगों के शव बरामद हुए 
  • 171 लोग अभी भी लापता
  • 35 लोगों के अभी भी टनल में फंसे होने की संभावना

Update – 08/02/2020

अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड के निर्देशन में स्थानीय पुलिस और SDRF द्वारा किया जा रहा बचाव और खोज अभियान युद्धस्तर पर जारी है। बचाव और खोज अभियान के संबंध में कोई भी जानकारी हेतु आप DGP Police  से निम्न मोबाइल नम्बरों पर सम्पर्क कर सकते हैं- +91 9411199317 एवं +91 9818840900.

2:00 PM

  • उत्तराखंड पुलिस DGP अशोक कुमार ने किया आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा
  • 40 से 50 लोग के अभी भी सुरंग में फंसे होने की संभावना ( चमोली पुलिस)
  • 18 शव हुए बरामद
  • लापता लोगों की संख्या 202 हुई ( आंकड़े राज्य आपदा परिचालन केंद्र द्वारा प्राप्त)

पुलिस मुख्यालय, उत्तराखंड देहरादून में  नीलेश आनंद भरणे, पुलिस उप महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखंड के निर्देशन में कंट्रोल रूम संचालित किया जा रहा है। बचाव और खोज अभियान के संबंध में समस्त जानकारी उत्तराखंड पुलिस की वेबसाइट एवं सोशल मीडिया हैंडल्स पर अपडेट की जा रही है। DIG Police से आप मोबाइल नंबर +91 7500016666 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

12:20 PM

  • चमोली जिले के आपदा प्रभावित इलाकों में हैलीकॉप्टर से किया जा रहा है राशन वितरण

                    10:00 AM 

  • दुर्घटना में 11 लोगों के शव बरामद.
  • 153 लोग अभी भी लापता जिनमें 32 रैणी और 121 तपोवन से लापता हैं.
  • 06 लोग घायल, अब तक NTPC के 12 लोग और ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट के 15 लोगों का रेस्क्यू किया गया
  • मौके पर 70 SDRF और 2 NDRF टीम मौके पर घटना स्थल पर  मौजूद
  • ITBP के 425, सेना के 124 जवान, SSB की एक टीम , 2 आर्मी की मेडिकल टीम राहत कार्यों में जुटी

Update – 8:00 PM

  • दुर्घटना में अब तक 10 लोगों के शव बरामद हुए
  • मृत आश्रितों को स्वीकृत किये 4-4 लाख की धनराशि।
  • प्रधानमंत्री ने भी दी है 2-2 लाख की आर्थिक मदद।
  • आपदा ग्रस्त क्षेत्र मे स्थिति सामान्य एवं नियन्त्रण में।
  • 12 लोगों को रेस्क्यू(Rescue) किया गया
  • ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट निर्माण स्थल पर सुरंगों पर बचाव और राहत कार्य जारी
  • मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि लोगों को बचाना हमारी प्रथमिकता
  • अलकनंदा का बहाव कम हुआ, बाढ़ की संभावना नहीं
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi), ममता बनर्जी(Mamat Benerjee), अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal) समेत तमाम हस्तियों ने ट्वीट कर दुर्घटना पर जताई संवेदना
  • मौके पर NDRF की टीम राहत कार्यों में जुटी

Update – 2:00 PM 

  • वायुसेना के तीन हेलिकॉप्टर देहरादून में राहत के लिए तैयार
  • सरकार ने दिए टिहरी बांध(Tehri dam) से पानी रोकने के आदेश, श्रीनगर बांध से छोड़ा जाएगा पानी
  • आपदा पर PM Narendra Modi ने CM Trivendra Rawat को फोन कर ली हालात की जानकारी

 

 

 

 

 

Update – 1:18

  • ताजा खबरों के अनुसार लापता लोगों(Missing People) की संख्या 250 से तीन सौ हो सकती है, आधिकारिक बयानों से लगभग सवा सौ लोगों के लापता होने की पुष्टि

Update – 1:16 

  • श्रीनगर(Srinagar), हरिद्वार(Haridwar) और ऋषिकेश(Rishikesh) में शाम चार बजे तक खतरे के निशान के ऊपर होगी गंगा
  • श्रीनगर में 536 मीटर, ऋषिकेश में 340 मीटर और हरिद्वार में 294 मीटर जलस्तर(water Level) बढ़ने की संभावना 
  • तपोवन से जोशीमठ के बीच भारी नुकसान

 

 

 

 

Update – 01:09 PM

  • 40 से 50 लोगों की आपदा के चपेट में आने की सूचना
  • नंदप्रयाग तक पहुंचा बाढ़ का पानी
  • मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जोशीमठ के लिए रवाना। साथ में सचिव आपदा प्रबंधन श्री एस ए मुरूगेशन।

 

 

 

 

 

 

घाटी के हालात जानने के लिए रवाना होते मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत

 

Update –  

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आपदा में फंसे होने की स्थिति पर आपदा परिचालन केंद्र के नंबर 1070 या 9557444486 जारी किए हैं

जोशीमठ के करीब बांध के क्षतिग्रस्त होने के कारण अलकनन्दा में पानी के तीव्र बहाव है

  • जिस कारण SDRF की 05 टीमो को घटनास्थल को रवाना किया गया।
  • शेष सभी टीमें को अलर्ट किया गया है
  • सोशल मीडिया और अन्य प्लेटफार्म से लोगों से नदी किनारे से हटने की सूचना लगातार प्रेषित की जा रही है
  • रेस्कयू हेतु हेलीकॉप्टर की सहायता भी ली जा रही है
  • किसी भी प्रकार की सहायता के लिए निम्न नम्बरो पर कॉल करें—

हेल्पलाइन नंबर(Helpline number)

+911352410197

+9118001804375

+919456596190

सेनानायक 

SDRF उत्तराखंड पुलिस

शासन ने गंगा किनारे के सभी गांवों में अलर्ट जारी कर दिया है. 

केंद्र सरकार भी सतर्क, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने जानकारी ली.

Update  – 

चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से ऋषिगंगा नदी में आई बाढ़ से ऋषिकेश क्षेत्र में भी गंगा नदी का जल स्तर बढ़ने की संभावना तथा आपदा कंट्रोल रूम से प्राप्त जानकारी के दृष्टिगत प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश के द्वारा ऋषिकेश त्रिवेणी घाट परिसर तथा नदी के किनारे स्थित अन्य घाटो से लोगो को लाउडस्पीकर के माध्यम से सचेत कर तत्काल खाली कराया जा रहा है।

 

आवश्यक सूचना

 आम जनमानस को सूचित किया जाता है कि तपोवन रैणी क्षेत्र में ग्लेशियर आने के कारण ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट को काफी क्षति पहुँची है,जिससे नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, ज़िस कारण अलकनंदा नदी किनारे रह रहे लोगों से अपील है जल्दी से जल्दी सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं।

वर्चुअल पुलिस स्टेशन जनपद चमोली

Whatsapp 9458322120,

FaceBook chamoli police,

Twitter @chamolipolice @SP_chamoli,

Instagram chamoli_police

 

शर्मनाक : कोटद्वार में जन्मदिन पार्टी में गई 13 साल की बच्ची से रेप

ये भी पढ़ें – दिन-रात खतरे के साए में जीने को मजबूर ये गांव, प्रशासन को बड़े हादसे का इंतजार ! | UdayPrabhat

 

MRP से ज्यादा दामों पर शराब बेचने पर भरना पड़ सकता है एक लाख तक जुर्माना | UdayPrabhat