Home Breaking News नए कोरोनावायरस से बचाव के लिए विदेश से लौटे संक्रमितों के लिए बनेगा...

नए कोरोनावायरस से बचाव के लिए विदेश से लौटे संक्रमितों के लिए बनेगा अलग आइसोलेशन वार्ड

294
इमेज
  • कोरोना वायरस(Coronavirus) के नए स्ट्रेन की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार की ओर तैयारी शुरू
  • दून मेडिकल कॉलेज(Doon Mediacal College) और सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में की जाएगी सैंपल की जांच
  • कुंभ(Kumbh) में बढ़ाए जाएंगे दो हजार आइसोलेशन वार्ड(Isolation Ward)

    देहरादून। कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन(Strain) की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार की ओर से सभी जिलों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं. विदेश से लौटे यात्री के कोरोना पाजिटिव आने पर उसे अलग से आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा. वहीं, उसके सपंर्क में आने वालों को संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा.
    शनिवार को प्रभारी सचिव डॉ.पंकज कुमार पांडेय की ओर से कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की रोकथाम के लिए जिलों को दिशा-निर्देश जारी किए गए. आदेश के अनुसार ब्रिटेन(Britain) में कोरोना वायरस का नया स्वरूप फैलने की विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पुष्टि की है. कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर केंद्र के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद प्रदेश सरकार ने भी कोरोना वायरस के नए संक्रमण की रोकथाम के लिए कदम उठाए हैं.
    विदेश से लौटने वाले सभी यात्रियों की अनिवार्य रूप से ट्रेसिंग की जाएगी. उनसे संपर्क कर 28 दिनों तक उनके स्वास्थ्य की नियमित रूप से निगरानी की जाएगी. उनकी ट्रेसिंग के लिए स्थानीय प्रशासन का सहयोग लिया जाएगा और अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर जांच की जाएगी. सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देश के अनुसार विदेश से आने वाले यात्री का सैंपल अलग से जांच के लिए भेजा जाएगा. इनके सैंपल की जांच दून मेडिकल कॉलेज और सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में की जाएगी। जांच में पॉजिटिव आने वाले यात्री के लिए अलग से आइसोलेशन वार्ड बनाया जाएगा.
    गंभीर लक्षण वाले यात्रियों को दून व हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज रेफर किया जाएगा. संक्रमित यात्री के संपर्क में आने लोगों को संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा। वहीं, विदेश से आने वाले यात्रियों की सेल्फ रिपोर्टिंग के लिए व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा.दूसरी ओर हरिद्वार जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने कहा कि कोविड के नए स्ट्रेन के संभावित खतरे को देखते हुए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग तमाम एहतियाती कदम उठा रहा है. कुंभ में अब दो हजार आइसोलेशन बेड बढ़ाए जाएंगे. इसके बाद आइसोलेशन बेड की कुल संख्या चार हजार हो जाएगी. मेला सभागार में प्रेस वार्ता के दौरान जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने कहा कि कोविड-19 वायरस संक्रमण का एक नया स्ट्रेन सामने आया है, जिसकी अभी स्वास्थ्य विभाग के स्तर से निगरानी की जा रही है.
    यूरोपीय देशों से लौटने वाले प्रवासियों का डाटा एकत्र करने के साथ आवश्यक कार्रवाई की जा रही है. कोरोना वैक्सीन का डाटा बेस भी तैयार कर लिया गया है।वैक्सीनेशन के लिए कितने स्थान की आवश्यकता होगी, ये भी तय कर लिया गया है. ब्लॉक स्तर तक टास्क फोर्स तैयार किया गया है. जिले में 24 स्टोरेज प्वाइंट हैं। पिछले सोमवती अमावस्या के दौरान शारीरिक दूरी बनाना किसी चुनौती से कम नहीं था. इसलिए सामान्य दिनों की अपेक्षा पांच गुना अधिक पुलिस बल तैनात किया गया था. नए साल के आयोजनों में भी कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना होगा. इसमें बंद स्थानों पर 100 लोगों और खुले स्थानों पर शारीरिक दूरी के साथ जश्न मनाने की छूट होगी. शारीरिक दूरी और मास्क की अनिवार्यता जैसे नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई की जाएगी.