Udayprabhat
weatherउत्तराखंडराज्य

जून में प्री मानसून वर्षा शुरू हो जाएगी

तपती जलती गर्मी के बीच उत्तराखंड वालों के लिए राहत की खबर, इस बार समय से पहले पहुंचेगा मानसून
जून में प्री मानसून वर्षा शुरू हो जाएगी। मौसम विभाग के राज्य निदेशक डा. विक्रम सिंह ने बताया कि अल नीनो के प्रभाव के चलते शीतकालीन वर्षा पर बुरा असर पड़ा है और सामान्य से बहुत कम पानी बरस पाया। मगर इसकी भरपाई ला नीना से होने की पूरी संभावना है। ला नीना का प्रभाव अगस्त व सितंबर में नजर आएगा।  मौसम विभाग के राज्य निदेशक डा. विक्रम सिंह ने बताया कि अल नीनो के प्रभाव के चलते शीतकालीन वर्षा पर बुरा असर पड़ा है और सामान्य से बहुत कम पानी बरस पाया। मगर इसकी भरपाई ला नीना से होने की पूरी संभावना है।
इस बार समय से पहले मानसून पहुंचने के आसार अभी से नजर आने लगे हैं। ला नीना के चलते मानसून की वर्षा सामान्य से अधिक होने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

ला नीना का प्रभाव अगस्त व सितंबर में नजर आएगा। इससे पहले जून व जुलाई का मानसून सामान्य रूप से बरसेगा। इसके बाद ला नीना का असर शुरू होते ही बर्षा तेज होने की संभावना है। जो मानसून की वर्षा की मात्रा को सामान्य से अधिक पहुंचाएगी। अधिक वर्षा कृषि के लिए  फायदेमंद होगी, लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन की संभावना रहेगी। जिस कारण सतर्क रहने की आवश्यकता है। प्रदेश में सामान्य से अधिक बारिश होने की 61 प्रतिशत संभावना है। फिलहाल ला नीना अपनी राह मे धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है।

आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान (एरीज) के वायुमंडलीय विज्ञानी डा. नरेंद्र सिंह ने बताया कि ग्लोबल वार्मिंग ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। अल नीनो का असर अभी थमा भी नहीं था कि ला नीना सक्रिय हो चला है। वैश्विक ताप का जलवायु पर तेजी से असर दिखना शुरू हो गया है। जिसके चलते दुनिया के देशों में तूफानों की संख्या में बढ़ोतरी के पूरे आसार हैं। साथ ही शीतकाल में संभवतः पश्चिमी विक्षोभों की संख्या और ठंड में भी बढ़ोतरी अधिक होगी।

Leave a Comment