Udayprabhat
उत्तराखंड

मतदेय स्थलों के पुनर्निर्धारण के संबंध में, राजनैतिक दलों के साथ हुई बैठक।

जोशीमठ चमोली मतदेय स्थलों के पुनर्निर्धारण, संशोधन एवं परिवर्तन से संबधित प्रस्तावों पर विचार-विमर्श को लेकर बुधवार को अपर जिलाधिकारी/उप जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ अभिषेक त्रिपाठी की अध्यक्षता में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई। जिसमें नए मतदेय स्थलों के प्रस्ताव तत्काल उपलब्ध कराने को कहा गया।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदेय स्थलों के पुनर्निर्धारण, संशोधन एवं परिवर्तन हेतु संशोधित पुनरीक्षण कार्यक्रम जारी किया है। मतदेय स्थलों के पुनर्निर्धारण संशोधन एवं परिवर्तन से संबधित अभी भी कोई सुझाव या प्रस्ताव बाकी है, तो तत्काल उपलब्ध करें। सभी एसडीएम तहसील स्तर पर जन प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए नए मतदेय स्थलों का पुनः पुनरीक्षण करें।
इस दौरान बताया कि राजनैतिक दलों से अब तक प्राप्त प्रस्तावों और मतदेय स्थलों के भौतिक सत्यापन के बाद मतदेय स्थलों के पुनर्निर्धारण, संशोधन एवं परिवर्तन से संबधित कुल 45 प्रस्ताव प्राप्त हुए थे। जिसमें मतदेय स्थल की पैदल दूरी दो किमी से अधिक होने के कारण 20, एक ही भवन में संचालित दो मतदेय स्थलों में मतदाताओं की संख्या 1500 से कम होने पर समायोजित हेतु 02, किसी कारण से मतदेय स्थल के नाम में परिवर्तन होने पर 05, वर्तमान मतदेय स्थल क्षतिग्रस्त होने पर 12 और मतदाताओं की सुविधा हेतु किसी अनुभाग को दूसरे अनुभाग में शामिल करने हेतु 06 प्रस्ताव शामिल है।
नए मतदेय स्थलों बनाने हेतु प्राप्त 20 प्रस्ताव और मतदाताओं की संख्या 1500 से कम होने पर 02 मतदेय स्थलों के समायोजन के बाद कुल 18 नए मतदेय स्थल बनाए जाने के प्रस्ताव पूर्व में आयोग को भेजे जा चुके है। जनपद की तीनों विधानसभा में अभी 574 मतदेय स्थल है और 18 नए मतदेय स्थलों के प्रस्तावों पर आयोग की स्वीकृति मिलने के बाद जिले में मतदेय स्थलों की संख्या बढकर 592 हो जाएगी।
बैठक में भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष गोविन्द सिंह बजवाल, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष आनंद सिंह पंवार, आम आदमी पार्टी के पूर्व प्रभारी अनूप सिंह, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी डीसी सती, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी गीता राम उनियाल, सहायक जगदीश सिंह, जसपाल सिंह आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment