Udayprabhat
उत्तराखंड

कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु मुख्य विकास अधिकारी ने, अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

पौड़ी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयन्ती 02 अक्टूबर को स्वच्छ भारत दिवस के रूप में मनाये जाने हेतु भारत सरकार द्वारा स्वच्छता पखवाड़े का शुभारंभ किया गया। 15 सितम्बर से 02 अक्टूबर तक चलने वाला यह स्वच्छता ही सेवा पखवाड़ा भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय व स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण-शहरी) के संयुक्त तत्वाधान में मनाया जायेगा।
कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर जिला मुख्यालय स्थित विकास भवन सभागार से मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पाण्डे सहित जिला स्तरीय अधिकारी ऑनलाइन जुड़े थे। जनपद स्तर पर कार्यक्रम को सफल बनाए जाने के लिए मुख्य विकास अधिकारी ने सभी लाइन डिपार्टमेंट को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।
उन्होंने बताया कि स्वच्छता ही सेवा की थीम कचरा मुक्त भारत है, जिसका फोकस साफ-सफाई और सफाई मित्रों के कल्याण पर है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी स्वच्छता गतिविधियों का मुख्य उद्देश्य स्वैच्छिक श्रमदान है। इन स्वच्छता अभियानों का ध्यान अधिक भीड़ वाले सार्वजनिक स्थानों जैसे बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, पर्यटन स्थल, चिड़ियाघर, राष्ट्रीय उद्यान और अभ्यारण्य, ऐतिहासिक स्मारक, विरासत स्थल नदी के किनारे, घाट, और नाले आदि पर होगा। यह कार्यक्रम/अभियान जनपद के ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में चलाया जायेगा।
उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए की स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के अंतर्गत छात्रों में वाद- विवाद, निबंध आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाना सुनिश्चित करें। साथ ही ग्राम पंचायत व निकायों में श्रमदान और सार्वजनिक स्थलों पर पैंटिंग करवाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने वहां उपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई।
इस अवसर पर परियोजना निदेशक डीआरडीए एस०के० राय, मुख्य कोषाधिकारी गिरीश चंद्र, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी राम सलोने, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डॉ0 डी0एस0 बिष्ट, मत्स्य अधिकारी अभिषेक मिश्रा, पीएम स्वजल दीपक रावत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment