Udayprabhat
उत्तराखंड

शान्ति कुंज हरिद्वार के तत्वावधान में छात्र-छात्राओं को गायत्री मंत्र की महिमा के साथ ही इन्द्रिय संयम के बारे में जानकारी दी गई।

कोटद्वार। पब्लिक इण्टर कालेज सुरखेत में शान्ति कुंज हरिद्वार के तत्वावधान में आयोजित भारतीय संस्कृति ज्ञान प्रसार कार्यक्रम में छात्र -छात्राओं को गायत्री मंत्र की महिमा के साथ ही इन्द्रिय संयम के बारे में जानकारी दी गई। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार के आचार्य हरीश पोखरियाल का स्वागत करते हुए विद्यालय के प्रधानाचार्य पुष्कर सिंह नेगी ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व की सर्वोत्कृष्ट संस्कृति है जो हर प्राणी में बसुधैव कुटुम्बकम की भावना को पनपाती है। शांति कुंज हरिद्वार के आचार्य हरीश पोखरियाल ने युग निर्माण योजना के प्रवर्तक वेदमूर्ति, तपोनिष्ठ पण्डित श्रीराम शर्मा आचार्य जी के व्यक्तित्व व कृतित्व को बताते हुए गायत्री तीर्थ शांतिकुंज हरिद्वार द्वारा किये जा रहे राष्ट्र निर्माण के कार्यों की जानकारी दी। आत्मवत सर्वभूतेषु की व्याख्या करते हुए उन्होंने कहा कि हम बदलेंगे तभी युग बदलेगा और हम सुधरेगें तभी युग सुधरेगा। इस अवसर पर विद्यालय के 125 छात्र-छात्राओं ने वर्ष 2023-24 की भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा के लिए आवेदन किया। कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने दीप मंत्र, गायत्री मंत्र, शारदा वन्दना प्रस्तुत किये।

Leave a Comment